Islamic Blog

Islamic Updates




Islamic Knowledge

गेर मुस्लिम को सलाम करने का और उन को जवाब देना का तरीक़ह

गेर मुस्लिम को सलाम करने का और उन को जवाब देना का तरीक़ह
अगर कोई गैर-मुसलमान को सलाम करना हो या उस के सलाम का जवाब क्या देना चाहिए या नहीं?
और अगर जवाब देना हो तो जवाब में क्या कहे?
सलाम के वे शब्द जो हम मुसलमान एक दूसरे को कहते हैं यानी “अस्सलामु-अलैकुम व रहमतुल्लाहि व ब-र-कातुह”… यह वास्तव में सामने वाले के लिए अल्लाह से सलामती व रहमत की दुआ है, जिसका हक़दार सिर्फ मुसलमान है, गैर-मुसलिम नहीं।
इसलिए गैर-मुसलिम के लिए प्यार व सम्मान वाले किसी दूसरे मुनासिब शब्द का इस्तेमाल करना चाहिए, जैसे आदाब, गुड मॉर्निंग, हाय हेलो केसे हो वगैरह।
याद रखें किः गैर-मुसलिम को सलाम करने में अपनी ओर से पहल नहीं करनी चाहिए, क्योंकि हदीस में इससे मना किया गया है।
हदीस: आप सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम ने फरमाया: यहूदियों और ईसाईयों को सलाम में पहल न करो।(तिर्मिज़ी ह2700)
2- और अगर कोई गैर-मुसलिम खुद सलाम करे तो उसके जवाब में सिर्फ “व अलैकुम” कहना चाहिए, या फिर “हदाकल्लाह” कि अल्लाह तुझे हिदायत दे! कहना चाहिए।
हदीस: आप सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम ने फरमाया: जब तुम्हें अहले-किताब यानी यहूदी व ईसाई (या काफिर लोग) सलाम करे तो जवाब में सिर्फ “व अलैकुम” कहो!
(बुखारी 2/529 ह6929)
3- फिर अगर कभी किसी काफिर को सलाम करना ही पड़ जाए तो “सलामुन अला मनित-त-ब-अल-हुदा” कहना चाहिए, आप सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम के खुतूत (पत्र), जो आपने गैर-मुसलिम बादशाहों के नाम लिखे थे, उन से इसका सबूत मिलता हैं, आपने रोम के बादशाह हिरक़्ल को खत लिखा जिसका तर्जुमा यह है कि अल्लाह के नाम से शुरू जो बहुत मेहरबान और रहम वाला है, अल्लाह के बन्दे और उसके रसूल मुहम्मद की तरफ से यह खत रोम के बादशाह के लिए है, अस्सलामु अला मनित-त-ब-अल-हुदा, कि सलामती हो उस पर जो हिदायत/ यानी सीधे रास्ते की पैरवी करे। (बुखारी ह7)
4- और अगर कहीं मुसलमान व गैर-मुसलिम इकट्ठे बैठे हों तो पूरा सलाम करे, और मुराद सिर्फ मुसलमानों को लें।
हदीस: हज़रत उसामा बिन ज़ैद रज़ियल्लाहु-अन्ह फरमाते हैं कि आप सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम एक ऐसी मजलिस के पास से गुज़रे जिसमें मुसलमान और गैर-मुसलमान दोनों थे तो आपने उन्हें सलाम किया। (तिर्मिज़ी ह2702) (फतावा शामी 5/292) (किताबुल-फतावा 6/119)

I am noor aqsa from india kolkata i love the islam and rules i am professional blogger and also seo expert learn islam with us.
mm
mm
I am noor aqsa from india kolkata i love the islam and rules i am professional blogger and also seo expert learn islam with us.