Islamic Blog

Islamic Updates




99 Names Of Allah
Islam

नमाज़ी के सामने से गुज़रना मना है हटना गुनाह नहीं

आमतौर से मस्जिदों में देखा गया है कि दो शख्स आगे पीछे नमाज पढ़ते हैं यानी एक पिछली सफ में और दूसरा उसके सामने अगली सफ में अगली सफ में नमाज पढने वाला पीछे वाले से पहले फ़ारिग हो जाता हैं और फिर उसकी नमाज खत्म होने का इन्तिजार करता रहता है कि वह सलाम फेरे तब यह वहॉ हटे और इससे पहले हटने को नमाजी के सामने से गुजरना ख्याल किया जाता है हालांकि ऐसा नहीं है आगे नमाज पढने वाला अपनी नमाज पढ कर हट जाए तो उस पर गुजरने का गुनाह नहीं है।
➖➖➖➖➖➖➖➖
👉खुलासा यह कि नमाजी के सामने से गुजरना मना है हटना मना नहीं है।
➤सदरुश्शरीआ हजरत मौलाना अमजद अली साहब आजमी अलैहिर्रहमा’ फ़रमाते हैं
अगर दो शख्स नमाज़ी के आगे से गुजरना चाहते हो और सुतरह को कोई चीज नहीं तो उन में से एक नमाजी के सामने उसकी तरफ पीठ करके खड़ा हो जाए और दूसरा उसकी आड़ पकड़ के गुजर जाए फिर वह दूसरा उसकी पीठ के पीछ नमाजी की तरफ पुश्त करके खड़ा हो जाए और गुजर जाए वह दूसरा जिधर से आया उसी तरफ हट जाए।
📗आलमगीरी ,रद्दुलमुहतार ,बहारे शरीअत, हिस्सा सोम, सफहा 159)
➖➖➖➖➖➖➖➖
👉इस से जाहिर है कि गुजरने और हटने में फर्क है और गुज़रने का मतलब यह है कि नमाजी के सामने एक तरफ से आए और दूसरी तरफ निकल जाए यह यकीनन नाजाइज़ व गुनाह है और अगर नमाज़ी के सामने बैठा हैं और किसी तरफ हट जाए तो यह गुज़रना नहीं है और इसमें कोई गुनाह नही है।
📚गलत फहमियां और उनकी इस्लाह,
❁┄════❁✿❁════┄❁
👤मुझे अपनी और सारी दुनिया के लोगो के इस्लाह की कोशिश करनी है. إن شاء الله عزوجل
🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿
👉“बराये करम इस पैग़ाम को शेयर कीजिये अल्लाह आपको इसका अजर–ए–अज़ीम ज़रूर देगा आमीन..,_(►जज़ाकअल्लाह खैरन◄)
Aafreen Seikh is an Software Engineering graduate from India,Kolkata i am professional blogger loves creating and writing blogs about islam.
Latest posts by Aafreen Seikh (see all)
Aafreen Seikh is an Software Engineering graduate from India,Kolkata i am professional blogger loves creating and writing blogs about islam.