Islamic Blog

Islamic Updates

Islamic Information

मोमिन की नमाज़

*नमाज़ों की तरफ़ तवज्जोह करें और इनको अपने मुक़र्ररह वक़्त पर अदा करने की आदत बना लें, क्योंकि कई लोगों की ज़िन्दगी में सुबह तो होती है लेकिन शाम नहीं होती…*_

*【★ नमाज़ हर मुसलमान मर्द औरत पर फ़र्ज़ है। आज से मर्द और औरत की नमाज़ के बहुत अहम फ़र्क़ पोस्ट किये जा रहे हैं। तवज्जो से पढ़ें, समझें, अपने घर की ख़वातीन को भी समझायें और हो सके तो आगे फॉरवर्ड करें…★】*

☝🏻 _*( 210 ) { •मर्द और औरत की नमाज़ का फ़र्क़• }*_

*👉🏻 जिस तरह बालिग़ मर्द पर नमाज़ फ़र्ज़ है इसी तरह बालिग़ औरत पर भी नमाज़ फ़र्ज है।*

*👉🏻 हैज़ ( मासिक स्त्राव-Menses ) और निफ़ास ( प्रसव के बाद जो ख़ून आता है-Blood after delivery ) की हालत में औरत को नमाज़ पढ़ना मना है। इन दिनों में औरत को नमाज़ माफ़ ( Exempted ) है और इन दिनों की नमाज़ की कज़ा भी नहीं।*

📒【 बहारे शरीअत, हिस्सा 2, सफ़हा 82 】

*👉🏻 • मर्द और औरत के नमाज़ पढ़ने के तरीक़े में भी फ़र्क़ है वोह फ़र्क़ ज़ैल ( निम्न-Below ) में मरकुम ( आलेखित ) है। क़ारेईन-किराम एक नज़र में मर्द और औरत की नमाज़ का फ़र्क़ आसानी से समझ लेंगे।*

*➡️ मर्द के लिये क्या हुकुम है ?*
*▶️औरत के लिये क्या हुकुम है?*

*👉🏻 कहाँ फ़र्क़ है – तकबीरे तहरीमा में*

*➡️【 मर्द के लिये हुकुम- 】*

*➡️{ 1 } अपनी हथेलियाँ आस्तीन के बाहर रखे।*

*➡️{ 2 } अपने दोनों हाथ कानों तक उठाये।*

*▶️【 औरत के लिये हुकुम-】*

*▶️{ 1 } अपनी हथेलियाँ आस्तीन या चादर के अंदर छुपा कर रखे।*

*▶️{ 2 } अपने दोनों हाथ सिर्फ़ मुढ़्ढों ( कंधों-Shoulder ) तक उठाए।*

*👉🏻【 क़याम में कहाँ फ़र्क़ है मर्द और औरत के लिये ? 】*

*➡️【 मर्द के लिये हुकुम-】*

*➡️{ 1 } नाफ़ ( डूठी-Nevel ) के नीचे हाथ बाँधे।*

*➡️{ 2 } दाँये हाथ की हथेली बाँये हाथ की हथेली के जोड़ ( Joint ) पर रखे और छिंन्गलीया ( छोटी उंगली-Little finger ) और अंगूठे ( Thumb ) को कलाई ( wrist ) के इर्द गिर्द फेरते हुए हलक़ा ( Round ) की शक्ल में रखे और दाँये हाथ की बीच की तीनों उंगलियों को बाँये हाथ की कलाई की पुश्त पर बिछा दे।*

*▶️【 औरत के लिये हुकुम- 】*

*▶️{ 1 } पिस्तान ( स्तन-Breast ) के नीचे हाथ बाँधे।*

*▶️{ 2 } बाँये हाथ की हथेली ( Palm ) को पिस्तान के नीचे रखकर उसकी पुश्त ( Back ) पर दाँये हाथ की हथेली रखे।*

mm

Noor Saba

Asalam-o-alaikum , Hi i am noor saba from Jharkhand ranchi i am very passionate about blogging and websites. i loves creating and writing blogs hope you will like my post khuda hafeez Dua me yaad rakhna.
mm

Comments

comments

mm
Asalam-o-alaikum , Hi i am noor saba from Jharkhand ranchi i am very passionate about blogging and websites. i loves creating and writing blogs hope you will like my post khuda hafeez Dua me yaad rakhna.