Islamic Blog

Islamic Updates




Women In Islam

शौहर की ना फ़रमानी करना

☆शौहर की ना फ़रमानी करना….

अल्लाह इर्शाद फ़रमाता है :
और जिन औरतों की ना फ़रमानी का तुम्हें अन्देशा हो तो उन्हें समझाओ और उन से अलग सोओ और उन्हें मारो।
{النساء ٣٤}

☆शौहर की ना फ़रमानी के मुतअल्लिक़ फरमाने मुस्तफा….

जब कोई मर्द अपनी बीवी को अपने बिस्तर पर बुलाए मगर वो न आए और उस का शौहर उस से नाराज़ी की हालत में रात गुज़ारे तो सुबह तक फ़रिश्ते उस औरत पर लानत करते रहते है।
{مسلم}

☆नफ्लि रोज़े के लिये शौहर की इजाजत….

जिस औरत का शौहर मौजूद हो उस के लिये शौहर की इजाज़त के बगैर नफ्लि रोज़ा रखना हलाल नहीं और न उस की इजाज़त के बगैर उस के घर में किसी को आने की इजाज़त देना जाइज़ है।
{بخارى}

अगर में अल्लाह के सिवा किसी और के लिये सजदा करने का हुक्म देता तो औरत को हुक्म देता कि वो अपने शौहर को सजदा करे।
{سنن كبرى للنساىٔى}

अल्लाह उस औरत की तरफ नज़रे रहमत नहीं फरमाता जो अपने शौहर का शुक्र अदा नहीं करती हालांकि वो उस से मुस्तग़नी नहीं हो सकती।
{سنن كبرى للنساىٔى}

••जो औरत (बिला इजाज़त) अपने शौहर के घर से निकले उस पर फ़रिश्ते लानत करते है हत्ता कि घर लौट आए या तौबा कर ले।
(مسلم)
(76 कबीरा गुनाह-147)

Asalam-o-alaikum , Hi i am noor saba from Jharkhand ranchi i am very passionate about blogging and websites. i loves creating and writing blogs hope you will like my post khuda hafeez Dua me yaad rakhna.
mm
Latest posts by Noor Saba (see all)
mm
Asalam-o-alaikum , Hi i am noor saba from Jharkhand ranchi i am very passionate about blogging and websites. i loves creating and writing blogs hope you will like my post khuda hafeez Dua me yaad rakhna.