Islamic Blog

आ़म ह़ालात में अगर्चे नेकी की दावत देना मुस्तह़ब हैं मगर कुछ सूरतों में येह वाजिब हो जाती हैं! वाजिब होने की सूरत येह हैं कि जब कोई गुनाह कर रहा हो और हमें यक़ीन हो की इसको मना करेंगे तो येह मान जाएगा तो अब इस को बताना, समझाना, मना करना वाजिब है!
1f449 1f3fd👉🏽अब हम को ग़ौर करना चाहिये कि येह वाजिब कौन अदा कर रहा हैं2753
27a1प्यारे इस्लामी भाईयों नेकी की बात बताने, गुनाहों से नफ़रत दिलाने और इन कामों के लिए किसी को समझाने का सवाब कमाने के लिए ज़रूरी नही कि जिस को समझाया वोह मान जाए तो ही सवाब मिलेगा, बल्कि अगर वोह न माने तब भी اِنٔ شَآ ءَاللّٰه عَزَّوَجَلَّ सवाब ही सवाब हैं, हमारी थोड़ी सी मेहनत हमारे नामाए आमाल में नेकियों का अम्बार लगा सकती हैं, हमें हर वक़्त इ़ल्में दीन की जुस्तज़ू में रहना हैं क्यूंकि दीन का इ़ल्म ह़ासिल करना सब से बेहतरीन अ़मल हैं!
1f449 1f3fe👉🏾एक ह़दीस मुबारक में इ़ल्मे दीन ह़ासिल करने की बहुत बड़ी फ़ज़ीलत बयान हुई हैं: “सरकारे दो आ़लम صَلَّى اللّٰهُ تَعَالٰى عَلَئهِ وَ اٰلِهٖ وَسَلَّم एक सह़ाबी से गुफ़्तगू फ़रमा रहे थे कि वह़ी आई (पैग़ाम आया): 1f339🌹येह शख़्स जो आप के साथ बात कर रहा हैं इस की उ़म्र सिर्फ़ एक साअ़त (घड़ी) बाक़ी रह गई हैं”!
वोह अस्र का वक़्त था कि सरकारे मदीना صَلَّى اللّٰهُ تَعَالٰى عَلَئهِ وَ اٰلِهٖ وَسَلَّم ने उस सह़ाबी को इस बात से आगाह फ़रमाया तो वोह बे क़रार हो गए और अ़र्ज़ किया: 1f33a🌺या रसूलुल्लाह صَلَّى اللّٰهُ تَعَالٰى عَلَئهِ وَ اٰلِهٖ وَسَلَّم, मुझे ऐसा अ़मल बताइये जो इस वक़्त मेरे लिए ज़्यादा मुनासिब हो! 1f339🌹हुज़ूर صَلَّى اللّٰهُ تَعَالٰى عَلَئهِ وَ اٰلِهٖ وَسَلَّم ने इर्शाद फ़रमाया: *2728इ़ल्म ह़ासिल करने में मश्ग़ूल हो जाओ2728*
तो वोह सह़ाबी رَضِىَ اللّٰهُ تَعَالٰى عَنٔه इ़ल्म ह़ासिल करने में मश्ग़ूल हो गए और मग़रिब से पहले इन्तिक़ाल फ़रमा गए!
रावी का कहना हैं कि अगर इ़ल्म से अफ़ज़ल कोई और चीज़ होती तो सरकार صَلَّى اللّٰهُ تَعَالٰى عَلَئهِ وَ اٰلِهٖ وَسَلَّم उस वक़्त में उसी के करने का हुक्म फ़रमाते!
*1f4d5📕(तफ़्सीरे कबीर, जिल्द-1, सफ़ह़ा-410)*
═════════════════════════
1f48e💎प्यारे इस्लामी भाईयों इ़ल्म से बढ़कर कोई अ़मल नही, इसलिए आज ही से इ़ल्म की जुस्तज़ू में लग जाइये और अपने अ़ज़ीज़ भाईयों को भी नेकी की दावत दीजिये!

I am noor aqsa from india kolkata i love the islam and rules i am professional blogger and also seo expert learn islam with us.
mm