Islamic Blog

60 सूरए मुम्तहिनह -पहला रूकू

islam blog001

अल्लाह के नाम से शुरू जो बहुत मेहरबान रहमत वाला (1)(1) सूरए मुम्तहिनह मदनी है इसमें दो रूकू, तेरह आयतें, तीन सौ अड़तालीस कलिमें, एक हज़ार पाँच सौ दस अक्षर हैं. ऐ ईमान वालो! मेरे और अपने दुशमनों को दोस्त न बनाओ (2)(2) यानी काफ़िरों को. बनी हाशिम के ख़ानदान की एक बाँदी सारह मदीनए […]

पाँचों वक़्त की नमाज़ में पढ़े जाने वाले फ़र्ज़, सुन्नत और नफ़्ल

salat namaz

بِسْمِ اللّٰہِ الرَّحْمٰنِ الرَّحِیۡمِ मुसलमानों पर पूरे दिन में पाँच वक़्त की नमाज़ें फ़र्ज़ की गई हैं। इन पाँच वक़्तों में फ़र्ज़ नमाज़ के अलावा कुछ नफ़्ल नमाज़ें भी साथ में पढ़ी जाती हैं जो अहादीस वग़ैरा से साबित हैं। पाँचों वक़्त की नमाज़ में पढ़ी जाने वाली रकअतें   सुन्नत-ए-मौअक्कदा सुन्नत-ए-ग़ैर मौअक्कदा फ़र्ज़ सुन्नत-ए-मौअक्कदा […]