Islamic Blog

Islamic Updates




Month: September 2020

Witr Kise Kahte Hai

जानते हो वित्र में हम हर रोज़ *अल्लाह* से एक वादा करते हैं और वो वादा भी इबादत की सबसे आखरी एक रकअत में होता है *दुआए क़ुनूत* एक अहद है अल्लाह سبحانہ و تعالی के साथ- एक मुआहिदा है-एक…

Nakhun Katne ka Sunnat Tarika

हदीस​ – हज़रत अनस रज़ियल्लाहु तआला अन्हु से मरवी है कि मूंछे और नाखून तरशवाने और बगल और ज़ेरे नाफ के बाल मूंडने में हमारे लिए 40 दिन का वक़्त मुकर्रर किया गया है कि इससे ज़्यादा ना छोड़ें,और बेहतर…

Social Media aur Ladkiyan

ये पोस्ट उन नादान और भोली भाली लड़कियों को खबरदार करने के लिए की जा रही है, जो कभी कभी अपने घरेलू हालात से परेशान होती हैं, और जो भी प्यार से बात करे उसी को हमदर्द समझकर भरोसा कर…

Mah e Safar Ka Aakhri Budh

MAH’E SAFAR ka aakhri budh jo awam mein ”sair budh” ke naam se mashhoor hai ke mutaliq yeh mashhoor hai ke is din REHMAT’E ALAM MUHAMMAD SALLALLAHU ALAIHI WASALLAM ne ghusal’e sehat farmaya tha aur sair’o tafreh farmai thi is…

40 Important Hadith In Hindi

1) सुबह के वक्त का सोना रिज़्क को रोकता है. 2) बात करने से पहले सलाम किया करो. 3) पाकी आधा ईमान है. 4) वज़ू नमाज़ की कुंजी है. 5) नमाज़ दीन का सुतून है. 6) दुआ इबादत का मग्ज़…

Ghussa aur iska ilaj aahadees ki roshni mein

Mafhoom-e-Hadees: Rasool’Allah (Sallallahu Alaihay Wasallam) ne Apni Ummat ko Baat-Baat par Gussa Karne se Manaa Farmaya. Chunanche Hadees Sharif me hai ki ek Aadmi Rasool’Allah(ﷺ) ke Darbar me Hazir Hua aur Arz kiya ki – “Aye Allah ke Rasool (Sallallahu…

Quran and Hadith

1. क़ुरआन क्या तुम्हे नहीं पता के आसमानो और ज़मीन की बादशाही अल्लाह की ही है और अल्लाह के सिवा तुम्हारा कोई भी हिमायती और मदद करने वाला नहीं है, (पारा-2, सूरेह-अल-बकरा, आयत नो, 106) 2. क़ुरआन जो लोग ईमान…

Paresani Aur Musibat Se bachne Ki Dua

Hazrat Muhammad ﷺ pareshaani (aur mushkil) ke waqt ye dua padney ko kahte the. “La ilaha illallahul Azimul-Haleem, La ilaha illallahul Rabbul Arsh-il-Azeem La ilaha illallahu Rabbus-samawati wa Rabbul ard wa Rabbul Arsh-il-kareem” (Tarjuma: koi sachcha mabud (God) nahi siwa…

Salatul Tasbeeh Ki Namaz ka Tarika Hindi

Bismillahirrahmanirrahim    *Salat-ul-tasbeeh parhne se agle , pichle , purane , naye, galti se kiye huye , jaan bujh kar kiye huye, chote, bade, chup par kiye huye aur khullam khullah kiye huye sab gunaah maaf* ——————– Hazrat Ibn Abbas…

Bad Nigahi Ka Azab

Quran: Aur Musalmaan Auraton Ko Hukm Do Apni Nigaahen Kuchh Nichi Rakkhe Aur Apni Paarsaai Ki Hifaazat Kare Aur Apne Banaao Na Dikhaae Magar Jitna Khud Hi Zaahir Hai Aur Dupatte Apne Garebaanon Par Daale Rahe Aur Apna Singaar Zahir…