Islamic Blog

Islamic Updates




PATTHER MAY AADMI
Quran

Al Quran

Bismillahirrahmanirrahim

✦ Al Quran : jo kitab tumhari taraf wahi ki gayee hai (yani Quran) usko padha karo aur namaz ke paband raho beshak namaz behayaee aur buri baato se rokti hai aur Allah ki yaad badi cheez hai aur Allah janta hai jon tum karte ho
Surah Ankaboot (29), Aayat 45

✦ Beshak Namaz apne muqarrar waqto mein momeeno par farz hai
Surah An-Nisa (4) , #103

✦ Hadith: Abdullah bin buraidah Radi-Allahu-Anhu ne apney walid se rivayat kiya ki Rasool-Allah Sallallhu-Alaihi-Wasallam ne farmaya Hamarey aur unkey (munafiqon ke) darmiyan Ahad Namaz hai to jisne Namaz ko chorh de usney kufr kiya.
Sunan Ibn Majah, jild 1 , # 1079 -Sahih)
——————
✦ अल क़ुरान : जो किताब तुम्हारी तरफ वही की गयी है (यानि कुरान) उसको पढ़ा करो और नमाज़ के पाबंद रहो बेशक नमाज़ बेहयाई और बुरी बातो से रोकती है और अल्लाह की याद बड़ी चीज़ है और अल्लाह जानता है जो तुम करते हो
सुरह अन्क़बूत (29), आयात 45

✦ अल क़ुरान : बेशक नमाज़ अपने मुक़र्रर वक्तो में मोमीनो पर फ़र्ज़ है
सुरह अन निसा (4) आयत 103

✦ हदीस: अब्दुल्लाह बिन बुरैदा रदी-अल्लाहू-अन्हु ने अपने वालिद से रिवायत किया की रसूल-अल्लाह सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने फरमाया हमारे और उनके मुनाफिकों के) दरमियान अहद नमाज़ है तो जिसने नमाज़ को छोड़ दिया उसने कुफ्र किया.
सुनन इब्न माज़ा, जिल्द 1 , 1079 -सही

Aafreen Seikh is an Software Engineering graduate from India,Kolkata i am professional blogger loves creating and writing blogs about islam.
Latest posts by Aafreen Seikh (see all)
Aafreen Seikh is an Software Engineering graduate from India,Kolkata i am professional blogger loves creating and writing blogs about islam.