Islamic Blog

Islamic Updates

Islamic Information

Allah Ka Kudrat

अल्लाह तआला ने हमारे उपर मजबूत आसमान बनाया, रोशनी के लिए उस में चांद,सूरज और चमकदार सितारे बनाए और उसीने बग़ैर सहारे के उस को जमीन पर गिरने से रोक रखा है, जब के इनसान हलकी सी चीज़ भी बगैर सहारे के रोक नहीं सकता, मगर अल्लाह तआला ने हजारों साल से आसमान को बग़ैर सुतून के रोक कर अपनी जबरदस्त कुदरत का इज़हार किया और लोगों को उस में गौर व फिक्र करने की दावत देते हुए फर्माया..

◆ ( क्या वो नहीं देखते के) आसमान (बग़ैर सुतून के) को कैसा ऊँचा किया गया। (फ़11)

( AL-GHASHIYAH – 88:18 )

अल्लाह तआला ने लोगों की गिज़ा के लिए दूध का इन्तजाम फर्माया और उस के लिए गाय, भैंस, उँट, बकरी जैसे जानवर पैदा किये, जो अपने बच्चों को भी दूघ पिलाते हैं और इन्सानों के लिए दूध और गिज़ाई जरुरत को भी पूरा करते हैं..!

यहाँ गौर करने वाली बात है की तमाम चौपाए एक ही तरह की घास खाते हैं, मगर उन जानवरों के गोबर और खून के दरमियान से साफ सुथरा और गिज़ा से भरपूर सफेद दूघ कौन निकालता है..? यक़ीनन इन्सानों के लिए लज़ीज और पाक साफ दूध का इन्तजाम करना अल्लाह ही की कुदरत है…….
अल्लाह तआला ने इतनी बडी ज़मीन को इन्सानों के बसने के लिए बनाया और उस पर भारी पहाडों को खडा कर के हिलने से महफूज कर दिया, फिर उस पर पैड़ पौदेे, जानदार, मुख्तलिफ़ किस्म के फल फूल, सब्जियां और खाने की चीजें पैदा फरमाई, जमीन पर घर बनाने और उस को खोद कर पानी निकालने के लिये नर्म बना दिया, अल्लाह ही ने इस ज़मीन को हमारे चलने फिरने और जरूरतों को पूरा करने के काबिल बनाया, उस में से रंगबिरंगे फल, मुख्तलिफ़ किस्म की सब्जियां ,मेवे और गल्ले उगाए…! गर्ज यह है के ज़मीन एक है लेकिन अल्लाह तआला की कुदरत का करिश्मा है की एक ही ज़मीन से इन्सानों और हैवानों की मुख्तलिफ़ जरुरियात को पूरा किया………..

mm

Shaheel Khan

As-salam-o-alaikum my selfshaheel Khan from india , Kolkatamiss Aafreen invite me to write in islamic blog i am very thankful to her. i am try to my best share with you about islam.
mm

Latest posts by Shaheel Khan (see all)

Comments

comments

mm
As-salam-o-alaikum my self shaheel Khan from india , Kolkata miss Aafreen invite me to write in islamic blog i am very thankful to her. i am try to my best share with you about islam.