Islamic Blog

Islamic Updates




Noor Saba

Laylatul qadr Dua In English

Dua for Lailatul Qadr (the Night of Power) اَللَّهُمَّ اِنَّكَ عَفُوٌّ ، تُحِبُّ الْعَفْوَ فَاعْفُ عَنِّي (Allahumma innaka ‘affuwwun tuhibbul ‘afwa fa’fu ‘anni’) O Allah! You are The One Who forgives greatly, and loves to forgive, so forgive me. اے…

Dua

Dua For Iftar / Iftar dua

اَللّٰهُمَّ اِنِّی لَکَ صُمْتُ وَبِکَ اٰمَنْتُ وَعَلَيْکَ تَوَکَّلْتُ وَعَلٰی رِزْقِکَ اَفْطَرْتُ   روزہ افطار کرنے کی دعا ’’اے اللہ!میں نے تیری خاطر روزہ رکھا اور تیرے اوپر ایمان لایا اور تجھ پر بھروسہ کیا اورتیرے رزق سے اسے کھول رہا…

Quote

Eid Mubarak 2021 Wishes

Eid Mubarak Quotes Eid ul-Fitr is a Muslim festival that is celebrated when Ramadan 2021 is finished. When the new moon is seen after the month of Ramadan, the next day is Eid ul-Fitr This is a gift from Allah on behalf…

Ramzan

Kolkata Ramadan Calendar 2021

Kolkata Ramadan Sehar & Iftar Time April / May 2021 Fiqh Jafria: Suhoor Time -10min | Iftar Time +10min Day Sehar Dhuhr Asr Iftar Isha 1 14, Wed 04:00 AM 11:37 AM 03:03 PM 05:57 PM 07:14 PM 2 15, Thu…

Manzil Dua

Bismi Allahi arrahmani arraheem In the name of Allah, the Most Gracious, the Most Merciful Manzil Dua is a collection of Ayaat and short Surahs from the Quran that are to be recited as a means of protection and antidote…

Sehri aur iftar ka Bayan

सेहरी की फजीलत रसूल अल्लाह सल्लाह अलेहे व्सलम ने फ़रमाया सेहरी खाव क्युकी सेहरी खाने में बरकत है. अल्लाह और उसके फरिस्ते सेहरी खाने वालो पर दुरुद भेजते है.सेहरी खाना कुल के कुल बरकत है सेहरी खाना नहीं छोड़ना चाहिए…

Itikaf me baithne ka tariqa

एत्काफ रमजान के दिनों में होता है एत्काफ का बहुत फजीलत है रमजान के 20 रोज़ा मगरिब के वकत से एत्काफ शुरू होता है और ईद के चाँद नज़र आ जाने तक रहता है ये इत्काफ 10 दिन का होता…

Roza ka Bayan Aur Fajilat

रोज़ा किसे कहते है सुबह सादिक से गरुब आफताब तक यानि सुबह उजाला होने से पहले से लेकर सूरज ढलने के बाद तक नियत के साथ खाने,पिने और जमाई से रोकने का नाम रोज़ा है रमजान शरीफ के रोज़े किन…

Namaz ke sarte kitni hai

नमाज़ की सर्त कितनी है? नमाज़ की सर्ते 6 है जिनके बगैर नमाज़ होती ही नहीं. 1.तहारत यानि नमाज़ी के बदन, कपड़े और उस जगह का पाक होना के जिस पर नमाज़ पढ़े. 2.सत्र औरत यानि मर्द को नाफ से…