Islamic Blog

Islamic Updates




Health tips

Daadhi Rakhne Ke Fayede

रोगमुक्त रहना हो तो न रहें क्लीन शेव, जानिए दाढ़ी रखने के फायदे

आमतौर पर बढ़ी हुई दाढ़ी को लोग बेहतर नहीं मानते इसलिए वो क्लीन शेव रहना पसंद करते हैं, लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि जो लोग अपने चेहरे पर घनी दाढ़ी रखते हैं वो कई बीमारियों से खुद को दूर कर लेते हैं। कम से कम ताजा अध्ययन तो यही कहता है। यह अध्ययन अमेरिका के एक अस्पताल में किया गया है।

पहले की धारणा क्या कहती है:

जैसा कि दाढ़ी चेहरे के हर हिस्से पर उगती है और दाढ़ी के बालों की बनावट अलग होती है उसमें एक अजीब तरह का घुमाव होता है। कुछ लोगों का दावा है कि दाढ़ी न सिर्फ चेहरे पर एक अलग तरह की इरिटेशन को जन्म देती है बल्कि दाढ़ी में ऐसे अनचाहे बग भी पनपते हैं जो स्वास्थ्य के लिए मुश्किलें खड़ी कर सकते हैं। यानी दाढ़ी हमारी सेहत के लिए हानिकारक होती है।

जिन लोगों में दाढ़ी को लेकर एक अलग तरह का भय रहता है उनके इस भय को न्यूयॉर्क में हाल ही में हुए एक शोध ने और बल दे दिया था जिसमें बताया गया कि घनी दाढ़ी में बैक्टीरिया का मल मौजूद रहता है। ऐसा माना जाता है कि कुछ लोगों की दाढ़ी में टॉयलेट सीट से ज्यादा बैक्टीरिया होते हैं।

वहीं अमेरिका के एक अस्पताल में किया गया एक अध्ययन इससे एकदम उलट कहानी कहता है।

क्या कहता है अमेरिका के एक अस्पताल में किया गया शोध:

अमेरिका के एक अस्पताल में किया गया शोध जर्नल्स ऑफ हास्पिटल इन्फेक्शन में छपा है। अस्पताल के करीब 408 स्टॉफ के चेहरे को क्लीन शेव किया गया। ऐसा करने का एक वाजिब कारण भी था। हम सभी जानते हैं कि अस्पताल एक ऐसी जगह होती है जहां पर इन्फेक्शन सबसे ज्यादा होता है।

अस्पताल ही ऐसी जगह होती है जहां एक हांथ से दूसरे हांथ में बैक्टीरिया आसानी से विचरण करते रहते हैं। हांथ, सफेद कोट, टाई और इक्विपमेंट इन सभी को बैक्टीरिया के संक्रमण के लिए जिम्मेदार ठहराया जाता है, लेकिन दाढ़ी के बारे में लोग कम ही बोलते हैं।

शोधकर्ता यह जानकर हैरान रह गए कि क्लीन शेव लोगों को दाढ़ी रखने वालों की तुलना में चेहरे पर थोड़ा अजीब सी अनचाही तकलीफ महसूस हुई। जिन लोगों ने दाढ़ी नहीं रखी थी उनके क्लीन शेव चेहरे पर मिथाइसिलिन रेसिसटेंस स्टॉफ एनारस के होने की तीन गुना ज्यादा संभावना पाई गई।

यह अस्पताल में एक आम परेशानी और मुश्किल का स्त्रोत होता है क्योंकि यह तमाम एंटीबायोटिक्स के लिए प्रतिरोधकता रखता है।

शोधकर्ताओं ने माना कि शेव्ड चेहरे पर ऐसी सूक्ष्म खरोचें होती हैं जो बैक्टीरिया को पनपने का पर्याप्त स्थान दे देती हैं। लेकिन दाढ़ी ऐसे बैक्टीरिया से होने वाले संक्रमण से रोकती है।


Source:LiveIndia

As-salam-o-alaikum my selfshaheel Khan from india , Kolkatamiss Aafreen invite me to write in islamic blog i am very thankful to her. i am try to my best share with you about islam.
mm
mm
As-salam-o-alaikum my self shaheel Khan from india , Kolkata miss Aafreen invite me to write in islamic blog i am very thankful to her. i am try to my best share with you about islam.