Islamic Blog

Islamic Updates




Islamic History

Hazrat Abdul mutalib ka intekal

हज़रत मुहम्मद सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम अपनी माँ हज़रत आमना के इन्तिक़ाल के बाद अपने दादा अब्दुल-मुत्तलिब की तरबिरत (पालन-पोषण) में 2 साल तक रहे…।

जब आपकी उम्र मुबारक 8 साल हुई तो आपके दादा हज़रत अब्दुल-मुत्तलिब का भी इन्तिक़ाल हो गया…। मरते वक़्त हज़रत अब्दुल-मुत्तलिब ने आपके सगे चचा हज़रत अबू तालिब को बुलाकर आप सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम को उनके सुपुर्द किया और यह वसीयत की कि बहुत मुहब्बत और प्यार से इनकी परवरिश करना…।

उम्मे ऐमन रज़िअल्लाहु तआला अन्हा कहती हैं कि जिस वक़्त अब्दुल-मुत्तलिब का जनाज़ा उठा तो आप सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम को देखा कि आप जनाज़े के पीछे रोते जाते थे…।

एक बार आप सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम से पूछा गया कि क्या आपको हज़रत अब्दुल-मुत्तलिब का मरना याद है…? तो आपने जवाब दिया कि मैं उस वक़्त आठ साल का था…।

(आख़िरी नबी सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम, पेज 88)

As-salam-o-alaikum my selfshaheel Khan from india , Kolkatamiss Aafreen invite me to write in islamic blog i am very thankful to her. i am try to my best share with you about islam.
mm
mm
As-salam-o-alaikum my self shaheel Khan from india , Kolkata miss Aafreen invite me to write in islamic blog i am very thankful to her. i am try to my best share with you about islam.