Islamic Blog

शब् बरात के बारे मे कुछ जरुरी बातें |

शब-ए-बारात दो शब्दों, शब[1] और बारात [2]से मिलकर बना है, जहाँ शब का अर्थ रात होता है वहीं बारात का मतलब बरी होना होता है। इस्लामी उर्दू कैलेंडर के अनुसार यह रात साल में एक बार शाबान महीने की 14 तारीख के सूरज डूबने के बाद शुरू होती है। मुसलमानों के लिए यह रात बेहद फज़ीलत वाली रात मानी जाती […]

Tabut e Sakina Kya hai

यह शमशाद की लकड़ी का एक सन्दूक था, जो #हज़रत_आदम عليه السلام पर नाज़िल हुआ था, यह आपकी आख़री ज़िन्दगी तक आपके ही के पास रहा, यहाँ तक कि यह #हज़रत_याकूब عليه السلام को मिला और आप के बाद आपकी औलादे बनी इस्राईल के क़ब्ज़े में रहा और #हज़रत_मूसा عليه السلام को मिल गया तो […]

Jung e Badr

Islam Ki Pehli Tareekhi Jang Hai, Jo Hijri 2 Ke 17 Ramadan Mein Hui, Is Jang Mein Musalmano Ki Tadad 313 Thi Jin Mein 77 Muhajir They Aur 236 Ansar They, Aur Kuffar Ki Tadad Takreeban 1000 Thi. Jang-e-Badr Mein Musalmano Ki Madad Ke Liye Pehle 1000 Farishte Fir 3000 Fir 5000 Farishte Aaye Badr […]

Sab Se Pehle Milad Mustafa Kisne Manaya

Kya Aap Jaante Hain Ki Sab Se Pehle Milad-e-Mustafa (Sallallahu Alaihi Wasallam) Kisne Manaya ? Jawab: – Pyare Aaqa Muhammad Mustafa (Sallallahu Alaihi Wasallam) Ka Meelad Sab Se Pehle Khud ALLAH (Azzwajal) Ne Manaya, Woh Bhi Ambiya Ki Jamaat Mein Aalam-e-Arwaah Mein Jahan ALLAH Ne Tamaam Ambiya (Alaihis Salaam) Se Gawaahi Li aur Apne Mehboob […]

हज़रत आदम ے ज़मीन पर उतारे जाने के बाद के वाक़ियात

हज़रत आदम ے ज़मीन पर उतारे जाने के बाद के वाक़ियात بِسْمِ اللّٰہِ الرَّحْمٰنِ الرَّحِیۡمِ हज़रत आदम ے और हव्वाے का ज़मीन पर उतारा जाना  हज़रत क़तादहک और इब्ने अब्बास ک के मुताबिक़, आदमے को सब से पहले “‘हिन्द” की ज़मीन में उतारा गया। हज़रत अली ک फ़रमाते हैं कि- आबो हवा के ऐतबार से बेहतरीन जगह “हिन्द” है इसलिए आदमے को वहीं उतारा गया। हज़रत इब्ने […]

Hazrat Abdul mutalib ka intekal

हज़रत मुहम्मद सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम अपनी माँ हज़रत आमना के इन्तिक़ाल के बाद अपने दादा अब्दुल-मुत्तलिब की तरबिरत (पालन-पोषण) में 2 साल तक रहे…। जब आपकी उम्र मुबारक 8 साल हुई तो आपके दादा हज़रत अब्दुल-मुत्तलिब का भी इन्तिक़ाल हो गया…। मरते वक़्त हज़रत अब्दुल-मुत्तलिब ने आपके सगे चचा हज़रत अबू तालिब को बुलाकर […]

ZAINAB, daughter of Ali (a.s.) part-4

Sakeena Dies: One night Sakeena started to cry in her sleep. When her mother Rabab asked her about the matter she replied that she saw her father in her dream telling her that he could not bear to see her in that grieving state any more. Hearing that. all women started to cry so loudly […]

ZAINAB, daughter of Ali (a.s.) part-3

Captives Journey to Damascus: After about a month and seven days of captivity in Kufa, the captives were set off for Damascus with a large army of horsemen and footmen so that no one could intercept their journey. With their mean-hearted escort, the caravan left Kufa on the eighteenth day of Safar. They suffered untold […]

ZAINAB, daughter of Ali (a.s.)

Introduction: This article is about the family of the Holy Prophet (pbuh). It explains the sufferings, pain and grief born by women and children during Karbala and afterwards. The article briefly unfolds the events that occurred mostly in Kufa and Damascus following the martyrdom of Imam Al-Husain (a.s.), seventeen of his family members, and his […]

Hind-al-Wali Khwaja Moinuddin Chisti R.A.

SEERAT-E-GARIB NAWAZ Wisaal-e-Garib Nawaz Aur Wisaal Ke Baad Ki Karaamat Wisaal Se Pehle Aap Apne Hujre Mai Tilaawat-e -Qur’an Karte Rahe… Aap Ka Wisaal 6 Rajab 633 Hijri (16 March 1236) Ko Peer Ke Din 97 Saal Ki Umr Me Hua… Aap Ka ,Mazaar Ajmer Sharif (Rajasthan) Me Hai… *********************** Wisaal Ke Baad Bhi Aap […]