Islamic Blog

Islamic Updates




miswak
Ramzan

मिसवाक के फायदे | मिस्वाक | Miswak Benefits

तो चले अब हम मिसवाक के दीनी फायदे देखेंगे

१.मिसवाक करने के बाद नमाज पढ़ने से सवाब 99 गुना से 400 गुना तक बढ़ जाता है

२.सुन्नते रसूलपर (सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम) आमल का सवाब मिलता है

३.फरिश्तोंको खुश रखती है

४.चेहरा मुनव्वर हो जाने से फरिश्ते मुसाफ़ा करते है नमाज मे साथ चलते है

५.मस्जिद की तरफ जाते हुये हामिलीन अर्श बंदे के लिए अस्तगफार करते है

६.इबादते इलाही पर उबारती है

७.पुलसिरात पर बिजली की तरह गुजारने वाली है

८.मौत के वक़्त कलमे शहादत की याद दिलाती है

९.रूह निकलने मे आसान होती है

१०.कबर मे कुशादगी होती है

११.जन्नत के दरवाजे खुलते है

१२.बंदे पर जहन्नुम का दरवाजा बंद कर दिया जाता है

१३.इंसान दुनियासे पाक साफ होकर जाता है

१४.फरीश्ते मौत के वक़्त इस तरह आते है जिस तरह औलिया इकराम के पास आते है

१५.शैतानी वसवासोंको दूर करती है अब हम मिसवाक के दुनियावी फायदे देखेंगे

१.हमेशा इस्तेमाल करनेसे रिज्क बढ़ता है

२.मालदारी लाती है

३.असबाबे रिज्क की सहूलत का जरिया है

४.मुह की सफाई करती है

५.मसूड़े मजबूत करती है

६.दात मजबूत करती है

७.दाढ़ का दर्द दूर करती है

८.बलगम दूर करती है

९.दातो को सफ़ेद करती है

१०.जबान की सफाई हासिल होती है

११.दर्दे सर को दूर करती है

१२.सर की रगो के लिये मुफीद है

१३.निगाह तेज करती है

१४.मादा दुरुस्त करती है

१५.बदन को ताकत पहुचाती है

१६.कुवते हाफ़ीजा बढाती है

१७.अकल की ज्यादती का जरिया है

१८.दिल को लतीफ (खुश)रखती है

१९.नेकियों को बढ़ाती है

२०.कसरते औलाद का बाअस है

२१.बूढ़ापा देर से लाती है

२२.बदन की हरारात दफा करती है

२३.बदन का दर्द दूर करती है

२४.पीट मजबूत करती है

२५.गंदगी और रुतुबतो का इखराज होता है और तमाम रगोंकी हरकत तबियाते ऐतेदाल पर बाकी और कायम रहती है

२६.फ़साहत और कूवत मिलती है

२७.भूक लगती है

२८.बगल की बदबू को दूर कर देती है

मूंह की हर समस्या का इलाज है मिस्वाक, विज्ञान ने भी माना चमत्कार
  • भोपालः अकसर लोग मूंह से जुड़ी कई समस्याओं से पीड़ित रहते हैं। …
  • मिस्वाक का चिकित्सकीय स्थान
  • मिस्वाक का धार्मिक स्थान
  • -दांत बनाए चमकदार
  • -दांतों की सड़न और कैव‍िटी दूर भगाए
  • -प्‍लाक हटाए
  • -मुंह की दुर्गंध भगाए
  • -मुंह के बैक्‍टीरिया का करे सफाया
As-salam-o-alaikum my selfshaheel Khan from india , Kolkatamiss Aafreen invite me to write in islamic blog i am very thankful to her. i am try to my best share with you about islam.
mm
mm
As-salam-o-alaikum my self shaheel Khan from india , Kolkata miss Aafreen invite me to write in islamic blog i am very thankful to her. i am try to my best share with you about islam.