Islamic Blog

Islamic Updates




Hadith

Part 13 – Seerat un Nabee Sal-Allahu Alaihi Wasallam

Bismillahirrahmanirrahim

Part 13 – Seerat un Nabee Sal-Allahu Alaihi Wasallam
——————
✦ Anas Radi Allahu Anhu se rivayat hai ki Rasool-Allah Sal-Allahu alaihi wasallam Jumaa ke din khutba de rahe they ki ek Sahabi khade huye aur kahne lage ki Ya Rasool-Allah Sal- Sallallahu Alaihi Wasallam Allah se dua farma dijiye ki hamarey liye barish baras jaye ( Aap Sallallahu Alaihi Wasallam ne dua farma di) aasman par baadal cha gaye aur barish barasne lagi, ye haal ho gaya ki hamare liye ghar tak pahuchna mushkil tha, ye baarish agle juma tak hoti rahi phir wohi sahabi ya dusre sahabi agli jumaa ko khade huye aur farmaya ki Allah se dua kijiye baarish band kar de hum to dub gaye, Rasool-Allah Sal-Allahu alaihi wasallam ne dua ki Eh Allah hamare charon taraf ki Bastiyon ko sairab kar aur hum par baarish band kar de aur baadal tukde hokar madine ke charon taraf bastiyon mein chala gaya aur madine walon par baarish ruk gayee
Sahih Bukhari, Vol7, 6342

✦ Anas bin malik Radi allahu anhu se rivayat hai ki Rasool-Allah Sal-Allahu alaihi wasallam ne farmaya main qayamat ke din jannat ke darwaze par aaunga aur darwaza khulwaunga to jannat ka chokidar ( andar se) puchega ki Aap kaun hain to main kahunga ki main Muhammad Sal-Allahu Alaihi Wasallam hu to wo kahega ki Aap hi ke liye mujhe hukm diya gaya tha ki aapse pahle kisi ke liye darwaza na kholna
Sahih Muslim, Vol 1, 486

——————
✦ अनस रदी अल्लाहू अन्हु से रिवायत है की रसूल-अल्लाह सल-अल्लाहू अलैही वसल्लम ज़ूमा के दिन ख़ुतबा दे रहे थे की एक सहाबी खड़े हुए और कहने लगे की या रसूल-अल्लाह सल-अल्लाहू अलैही वसल्लम अल्लाह से दुआ फरमा दीजिए की हमारे लिए बारिश बरस जाए ( आप सल-अल्लाहू अलैही वसल्लम ने दुआ फरमा दी आसमान पर बादल छा गये और बारिश बरसने लगी, ये हाल हो गया की हमारे लिए घर तक पहुंचना मुश्किल था, ये बारिश अगले ज़ूमा तक होती रही फिर वो ही सहाबी या दूसरे साहबी अगली ज़ूमा को खड़े हुए और फरमाया की अल्लाह से दुआ कीजिए बारिश बंद कर दे हम तो डूब गये, रसूल-अल्लाह सल-अल्लाहू अलैही वसल्लम ने दुआ की एह अल्लाह हमारे चारों तरफ की बस्तियों को सैराब कर और हम पर बारिश बंद कर दे और बादल टुकड़े होकर मदीने के चारों तरफ बस्तियों में चला गया और मदीने वालों पर बारिश रुक गयी
सही बुखारी, जिल्द 7, 6342

✦ अनस बिन मलिक रदी अल्लाहू अन्हु से रिवायत है की रसूल-अल्लाह सल-अल्लाहू अलैही वसल्लम ने फरमाया मैं क़यामत के दिन जन्नत के दरवाज़े पर आऊंगा और दरवाज़ा खुलवाऊंगा तो जन्नत का चोकीदार (अन्दर से ) पूछेगा की आप कौन हैं तो मैं कहूँगा की मैं मुहम्मद सल-अल्लाहू अलैही वसल्लम हूँ तो वो कहेगा की आप ही के लिए मुझे हुक्म दिया गया था की आपसे पहले किसी के लिए दरवाज़ा ना खोलना
सही मुस्लिम, जिल्द 1, 486

As-salam-o-alaikum my selfshaheel Khan from india , Kolkatamiss Aafreen invite me to write in islamic blog i am very thankful to her. i am try to my best share with you about islam.
mm
mm
As-salam-o-alaikum my self shaheel Khan from india , Kolkata miss Aafreen invite me to write in islamic blog i am very thankful to her. i am try to my best share with you about islam.