Islamic Blog

Islamic Updates




Dua

Ramzan Ki Dua

बिस्मिल्ला हिर्रहमा निर्रहिम

रमजान उल मुबारक मे पढने कि दुआ

रमजान उल मुबारक कि दुआ पढने के पहले और बाद दरूद  शरीफ जरूर पढे !

Ramzan Ul Mubarak Me Padhne Ki Dua
(1) ऐं अल्लाह हमारी जबान पर कलमा-ए-तय्यबा हमेशा जारी रख |
(2) ऐं अल्लाह हमे कामिल ईमान नसीब फरमा और पुरी हिदायत अता फरमा |
(3) ऐं अल्लाह हमे पुरे रमजान कि नेमते , अनवार व बरकत से माला माल फरमा |
(4) ऐं अल्लाह हम पर अपनी रहमत नाजील फरमा , करम कि बारीश फरमा और रीज्के हलाल अता फरमा |
(5) ऐं अल्लाह हमे दिने इस्लाम के येह्काम पर मुक्क्मल तौर पर अमल करनेवाला बनादे |
(6) ऐं अल्लाह तू हमे अपना मोहताज बना , किसी गैर का मोहताज ना बना |
(7) ऐं अल्लाह हमे लैलतुल कद्र नसीब फरमा |
(8) ऐं अल्लाह हमे हज मकबूल व मबरूर नसीब फरमा |
(9) ऐं अल्लाह हमे झूट, गीबत, बुगज व किनह, बुराई व झगडे, फसाद से दूर रख |
(10) ऐं अल्लाह हम से तंग्दस्ती खौफ घब्राहट और कर्ज के बोज को दूर फरमा |
(11) ऐं अल्लाह हमारे सगीरा और कबीरा गुनाहो को माफ फरमा |
(12) ऐं अल्लाह हमको दज्जाल के फित्ने, शैतान और्व नफ्स के शर से महफुज रख |
(13) ऐं अल्लाह औरतो को परदे किं पुरी पुरी पाबंदी करने कि तौफिक अता फरमा |
(14) ऐं अल्लाह हर छोटी बडी बिमारी से हमे और कुल मोमिनीन व मोमिनात को महफुज रख |
(15) ऐं अल्लाह हमे तकवा और पर्हेज्गारी अता फरमा |
(16) ऐं अल्लाह हमे हुजूर अक्दम ﷺ के प्यारे तरीके पर कायम रख |
(17) ऐं अल्लाह हमे हुजूर अकरम ﷺ कि सुन्नत पर चलने कि तौफिक अता फरमा |
(18) ऐं अल्लाह हमे कयामत के दिन हुजूर ﷺ के हातो से `जाम-ए-कौसर नसीब फरमा |
(19 ) ऐं अल्लाह हमे कयामत के दिन हुजूर ﷺ कि शफाअत नसीब फरमा |
(20) ऐं अल्लाह तू अपनी महोब्बत और अपने आका ﷺ कि महोब्बत हमारे दिलो मे डाल दे |
(21) ऐं अल्लाह हमे मौत कि सख्ती से और कब्र्र के अजाब से बचा |
(22) ऐं अल्लाह मुनकीर नकीर के सवालात हम पर आसन फरमा |
(23) ऐं अल्लाह हमे कयामत के रोज अपना दीदार नसीब फरमा |
(24) ऐं अल्लाह हमे जन्नतुल फिरदोस मे जगह अता फरमा |
(25) ऐं अल्लाह हमे कयामत के गर्मी से और जहन्नम कि आंग से महफुज फरमा |
(26) ऐं अल्लाह हमे और तमाम मोमिनीन व मोमिनात को हशर कि रूसवाई से बचा |
(27) ऐं अल्लाह नाम-ए आमाल हमारे दाहने हाथ से नसीब फरमा |
(28) ऐं अल्लाह अपने अर्श के साये मे जगह अता फरमा |
(29) ऐं अल्लाह पूल-सिरात पर बिजली कि तरह गुजरने कि तौफक अता फरमा |
(30) ऐं अल्लाह हमे दोनो जहा मे रसुले पाक ﷺ का गुलाम बना के रख |
Asalam-o-alaikum , Hi i am noor saba from Jharkhand ranchi i am very passionate about blogging and websites. i loves creating and writing blogs hope you will like my post khuda hafeez Dua me yaad rakhna.
mm
Latest posts by Noor Saba (see all)
mm
Asalam-o-alaikum , Hi i am noor saba from Jharkhand ranchi i am very passionate about blogging and websites. i loves creating and writing blogs hope you will like my post khuda hafeez Dua me yaad rakhna.