Islamic Blog

Islamic Updates




Ramzan

Ramzan Me Kya Kare Aur Kya na Kare

रोजा में ये चीजें बिलकुल ना करें

  • रोजे की सबसे पहली शर्त है भूखे रहना. मतलब सुबह जब सबसे पहली अजान होती है उस वक्त से लेकर शाम में सूरज डूबने तक कुछ भी नहीं खाना है ना ही पीना. कुछ नहीं मतलब कुछ भी नहीं. सिगरेट, जूस, चाय, पानी कुछ भी नहीं.
  • इस्लाम में शराब हराम है, मतलब शराब पीना गुनाह माना जाता है. इसलिए रोजे के दौरान भी शराब का सेवन की एकदम मनाही है.
  • दूसरों की बुराई या झूठ बिलकुल भी ना बोलें
  • लड़ाई, झगड़ा, गाली देना इन सब चीजों से रोजा टूट जाता है
  • शारीरिक संबंध बनाना भी मना है
  • किसी भी औरत या मर्द को गलत नजर से देखना भी मना
  • जानबूझ कर उल्टी करने से भी रोजा टूट जाता है

Ramzan Me Kya Kare

ज्यादा से ज्यादा अल्लाह को याद करें. नमाज और क़ुरान पढ़ें. क्योंकि इस महीने में जो इबादत की जाती है, आम दिनों के मुकाबले ज्यादा बरकत देती है.

  • एक दूसरे की मदद करें
  • जकात और फितरा दें. मतलब गरीब को ज्यादा से ज्यादा दान करें
  • रोजेदारों को इफ्तार कराएं
  • मिस्वाक (दातुन) करना
  • सेहरी (सुबह के वक्त का खाना) का इंतजाम करें, मतलब सुबह सूरज निकलने से पहले कुछ खाएं और दूसरों को भी खिलाएं

इन हालत में रोजे में छूट

  • बीमार के लिए माफी- अगर कोई बीमार है, जिसमें डॉक्टर ने भूखे रहने से मना किया है. या फिर वो कुछ ऐसी दवा खा रहा है जिसे छोड़ने से उसकी बीमारी बढ़ जाएगी तो वो रोजा छोड़ सकता है.
  • यात्रा के दौरान छोड़ सकते हैं रोजा- कोई लंबी यात्रा पर है और अगर रोजा रखने में परेशानी आ सकती है तो रोजा छोड़ा जा सकता है. लेकिन छोड़े हुए रोजे का बदला बाद में रोजा रख कर पूरा करना होगा.
  • प्रेग्नेंट औरतें को छूट- प्रेग्नेंट औरतें या नई-नई मां बनने वाली महिलाएं, जो बच्चे को दूध पिलाती हैं, वह भी रोजा नहीं रख सकतीं हैं
  • बुजुर्ग और छोटे बच्चों को भी रोजा रखने में छूट दी गई है.

इन हालातों में नहीं टूटते हैं रोजे

रोजा को लेकर कई तरह के भ्रम सामने आते रहते हैं. किन हालातों में रोजा टूट जाता है किन हालातों में नहीं? आइए जानते हैं ऐसे ही कुछ धारणाओं और मान्यताओं के बारे में.

  • गलती से कुछ खा लेने से नहीं टूटता है रोजा- कई बार इंसान ये भूल जाता है कि वो रोजा है और ऐसे में गलती से कुछ खा लेता है, तो इस हालत में रोजा नहीं टूटेगा. लेकिन इसके लिए शर्त है कि अगर खाने के बीच में ही आपको याद आ जाए कि आप रोजा हैं तो खाना तुरंत छोड़ देना होगा.
  • नहाने के दौरान पानी का नाक या मुंह में जाना- कई बार नहाने के वक्त पानी मूंह या नाक में चला जाता है तो ऐसे मौके पर रोजा टूटता नहीं है, लेकिन जानबूझ कर पानी पी लेने से रोजा टूट जाएगा
  • अपना थूक निगलने से नहीं टूटता है रोजा
  • नाखुन काटने या बाल दाढ़ी बनाने से भी नहीं टूटता है रोजा

इस्लाम की पांच मुख्य बातें हैं. कलमा (अल्लाह को एक मानना), नमाज, जकात (दान), रोजा और हज (मक्का की यात्रा). एेसे रमजान के महीने में ही कुरान शरीफ दुनिया में उतरा था, इसलिए भी ये महीना बहुत खास है.

Source: thequint

As-salam-o-alaikum my selfshaheel Khan from india , Kolkatamiss Aafreen invite me to write in islamic blog i am very thankful to her. i am try to my best share with you about islam.
mm
mm
As-salam-o-alaikum my self shaheel Khan from india , Kolkata miss Aafreen invite me to write in islamic blog i am very thankful to her. i am try to my best share with you about islam.