Islamic Blog

Islamic Updates




namaz
Namaz

Salatul Hajat ki Namaz

हजरत हुजैफा रज़ियल्लाहु तआला अन्हु रावी हैं कि जब हुजूरे अकदस सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम को कोई अहम मुआमला पेश आता तो आप  उसके लिए दो या चार रकअत नमाज़ पढ़ते । हदीस शरीफ में है कि पहली रकअत में सूरह फ़ातिहा और तीन बार आयतुलकुर्सी पढ़े ।

और बाकी तीन रकअतों में सूरह फ़ातिहा और कुल हुवल्लाह , कुल अऊजु बिरब्बिल् फलक , कुल अऊजु बि रबिऩ्नास एक एक बार पढ़े । तो यह ऐसी हैं जैसे शबे कद्र में चार रकअतें पढ़ीं । मशाइख फ़रमाते हैं कि हमने यह नमाज़ पढ़ी और हमारी हाजते पूरी हुईं ।

और एक हदीस में यह भी है कि जब कोई हाजत पेश आजाये तो अच्छा वुजू करके दो रकअत नमाज़ पढ़े । फिर तीन मर्तबा इस आयत को पढ़े फिर तीन बार पढ़े । फिर यह दुआ पढ़े ( तिर्मिज़ी व रद्दलमुहतार जि. 1 स. 461) इन्शाअल्लाह तआला उसकी हाजत पूरी होगी ।

इसी तरह हज़रत उसमान बिन हुनैफ रजियल्लाहु अन्हु कहते हैं कि एक साहब जो नाबीना थे बारगाहे अकदस में हाजिर हुए और अर्ज करने लगे कि या रसूलल्लाह ! आप दुआ कीजिये कि अल्लाह तआला मुझे आफ़ियत दे । आपने इरशाद फ़रमाया कि अगर तुम चाहो तो सब्र करो और यह तुम्हारे हक में बेहतर है ।

उन्होंने अर्ज की कि हुजूर दुआ करदें । तो आपने उनको तो यह हुक्म दिया कि तुम खूब अच्छी तरह वुजू करो और दो रकअत नमाज़ पढ़ कर यह दुआ पढ़ो हज़रत उसमान बिन हुनैफ़ रज़ियल्लाहु अन्हु का बयान है कि खुदा की कसम हम उठने भी न पाए थे । अभी बातें ही कर रहे थे कि वह नाबीना हमारे पास । अंखियारे होकर इस शान से आये कि गोया कभी अन्धे ही नहीं थे । ( तिर्मिजी जि .2 स . 197 व मुसनद इब्ने हम्बल जि . 4 स . 138 व मुस्तदरिक जि . 1 स . 526 )

Salat ul Haajat for Marriage , “After the Ishaa prayer on Monday, with fresh ablution and in privacy say a 4 rakah prayer with one salaam with the intention for seeking the fulfillment of a need.
1st Rakah= Surah Fatiha then Surah Ikhlas 10 times
2nd Rakah= Surah Fatiha then Surah Ikhlas 20 times
3rd Rakah= Surah Fatiha then Surah Ikhlas 30 times
4th Rakah= Surah Fatiha then Surah Ikhlas 40 times
respectively 


After saying Salam don’t talk to anyone and recite whole heartedly the following respectively:

Surah Ikhlas 75 times, Istaghfar(Allahum Aig-fr-li ) 75 times . Darood Shareef 75 times,


Then pray for marriage (best) , if you do not see any response , read again on Monday. Insha Allah you will surely get success. In any case with humility and respectfully with a pure heart and you are halaal (legal) in every manner then your prayers are sure to be answered Insha’Allah.

Salatul Hajat Ki Dua

“Ya Allaho Ya Ahado Ya Wahidu Ya Maujudo Ya Jawwado Ya Basitu Ya Kareemo Ya Wahhabo Ya Zat Tauli Ya Ganiyu Ya Mugniyu Ya Fattaho Ya Gaffaro Ya Raheemo”

Is dua ko Jume ki namaz ke baad har namaz mein 51 martaba tab tak parhe, jab tak apki hajat poori nahi ho jati. Insha Allah, thode hi waqt mein aapka namumkin se namumkin kaam bina kisi takleef aur pareshani ke ban jayega.

Asalam-o-alaikum , Hi i am noor saba from Jharkhand ranchi i am very passionate about blogging and websites. i loves creating and writing blogs hope you will like my post khuda hafeez Dua me yaad rakhna.
mm
Latest posts by Noor Saba (see all)
mm
Asalam-o-alaikum , Hi i am noor saba from Jharkhand ranchi i am very passionate about blogging and websites. i loves creating and writing blogs hope you will like my post khuda hafeez Dua me yaad rakhna.