Islamic Blog

Islamic Updates




Dua

Surah Ikhlas in Hindi

Surah Ikhlas

✦ Ek baar Surah Al-ikhlas padho aur ek tihaii Quran padhne ka sawab kama lo kyunki.
————–
✦ Rasool-Allah Sal-Allahu Alaihi Wasallam ne farmaya kya tum mein se koi is baat se thak jata hai ki har raat Ek Teehaii Quran parh le ? Sahaba Radi Allahu Anhu ma ne arz kiya ki Teehaii Quran ( Ek raat mein ) kaisey parh saktey hain ? Aap Sallallahu Alaihi Wasallam ne farmaya Qul Huwallahu Ahad ( Surah ikhlas) Ek teehaii Quran ke barabar hai
Sahih Muslim, 1886

✦ Rasool-Allah Sall-Allahu alaihi wasallam hamarey pass aaye aur farmaya main tumhare samne Ek Tihaii Quran parhta hu , phir Aap Sallallahu Alaihi Wasallam ne Qul Huwallahu Ahad (Surah Al-ikhlas) parhi yahan tak ki is surah ko khatam kiya
Sahih Muslim, 1889

Surah Ikhlas in Hindi With Tarjuma

بسم الله الرحمن الرحيم

قُلْ هُوَ اللَّهُ أَحَدٌ اللَّهُ الصَّمَدُ
لَمْ يَلِدْ وَلَمْ يُولَدْ وَلَمْ يَكُن لَّهُ كُفُوًا أَحَدٌ
سورة الإخلاص

✦ Qul Hu Wallahu Ahad, ALLAHus-Samad, Lam Yalid walam Yulad, Walam Yakul-lahu Kufuwan Ahad

✦ Al Quran : Kah do Wo ALLAH Ek hai, ALLAH beniyaz hai, Na uski koi Aulad hai aur na wo kisi ki Aulad hai, Aur uskey barabar ka koi nahi hai
Surah Al-ikhlas (112)
————–
✦अल क़ुरान : कुल हुवल्लाहु अहद अल्लाहुस-समद लम यलीद वा लम युलद वा लम यकुल्लाहू कुफुवान अहद
कह दो वो अल्लाह एक है, अल्लाह बेनीयाज़ है, ना उसकी कोई औलाद है और ना वो किसी की औलाद है, और उसके बराबर का कोई नही है
सुरह अल-इख्लास (112)

अबू दर्दा रदी अल्लाहू अन्हु से रिवायत है की रसूल-अल्लाह सलअल्लाहू अलैही वसल्लम ने फ़रमाया क्या तुम में से कोई इस बात से थक जाता है की हर रात एक तिहाई कुरान पढ़ ले सहाबा रदी अल्लाहु अन्हुमा ने अर्ज़ किया की तिहाई कुरान (एक रात में) कैसे पढ़ सकते हैं , आप सलअल्लाहू अलैही वसल्लम ने फ़रमाया कुल हुवल्लाहु अहद ( सुरह ईखलास ) एक तिहाई कुरान के बराबर है
सही मुस्लिम , 1886

अबू हुरैरा रदी अल्लाहू अन्हु से रिवायत है की रसूल-अल्लाह सलअल्लाहू अलैही वसल्लम हमारे पास आए और फरमाया मैं तुम्हारे सामने एक तिहाई क़ुरान पढता हूँ , फिर आप सलअल्लाहू अलैही वसल्लम ने क़ुल हुवल्लाहू अहद (सुराह अल-इख्लास) पढ़ी यहाँ तक की इस सुरह को ख़तम किया
सही मुस्लिम, 1889

Aafreen Seikh is an Software Engineering graduate from India,Kolkata i am professional blogger loves creating and writing blogs about islam.
Latest posts by Aafreen Seikh (see all)
Aafreen Seikh is an Software Engineering graduate from India,Kolkata i am professional blogger loves creating and writing blogs about islam.