Islamic Blog

Islamic Updates




Durrod E Pak

Durrod E Pak

हदीस – जिसने दुरूदे पाक को ही अपना वज़ीफा बना लिया तो ये उसकी दुनिया और आखिरत के लिए तन्हा काफी है और उसको दूसरे किसी वज़ीफे की जरूरत ही नहीं है (बहारे शरीयत,हिस्सा 3,सफह 77) . दुरूदे ग़ौसिया –…